क्या आप जानते हैं आखिर Bluetooth का नाम Bluetooth ही क्यु पड़ा अगर नहीं तो हम बताएंगे की 'ब्लूटूथ' का नाम यहि क्यु रखा गया |

मोबाईल फोन मे Bluetooth फीचर एक एसा फीचर हैं जिसने मोबाईल की दुनिया में क्रांति ला दी | ब्लूटूथ से कोई भी फ़ाइल या डेटा एक मोबाइल से दूसरे मोबाईल मे भेज सकते हैं लेकिन सवाल ये है कि ब्लूटूथ का नाम Bluetooth ही क्यु पड़ा


Bluetooth का नाम Bluetooth ही क्यु पड़ा

Bluetooth का नाम Bluetooth क्यु पड़ा जबकि इस नाम का मोबाइल से कोई लेना-देना नहीं है तो जानिये कहा से  आया Bluetooth का नाम|
 
आप य़ह जानकर चौक जाएंगे कि Bluetooth एक राजा का नाम था|आप य़ह सोच रहे होंगे कि मोबाइल का राजा से क्या लेना देना तो चलिये हम आपको बताते हैं नॉर्वे के मध्यकाल के राजा हेराल्ड गोरंसो डेन्मार्क ने स्कैंडेनेविया नामक जगह पर पहला ब्रिज बनाने का श्रेय उन्हीं को जाता है य़ह ब्रिज 5 मीटर चौड़ा और 760 मीटर लंबा था उस समय इस ब्रिज को यातायात के भारी मात्रा मे यूज किया जाता था |

राजा हेराल्ड गोरंसों डेनमार्क  का उपनाम Blátǫnn था 

Blátǫnn डेनिश भाषा का शब्द है जिसका अर्थ Bluetooth है जिस प्रकार  हेराल्ड ने क्रिस्टिअंश और हेअथेन्स की दूरी को ब्रिज बनाकर दूर किया उसी तरह उसी तरह Bluetooth को य़ह नाम दिया जाना इसलिए भी सार्थक है कि Bluetooth का चिन्ह भी यहि दर्शाता है तो इसी  वज़ह से Bluetooth और उसका चिन्ह दिया गया |

अगर हम Bluetooth को हिन्दी ट्रांसलेट करते हैं तो इसका मतलब होता है 'नीला दांत' |



य़ह भी पढ़े -